Tarot Card Reading in Hindi – टैरो कार्ड रीडिंग

0
273
Tarot Card Reading in Hindi Minidea
Tarot Card Reading in Hindi

Free Tarot Card Reading in Hindi – भविष्यवाणी की बात करें तो टैरो कार्ड (Tarot Card) का नाम न लिया जाए ऐसा तो हो नहीं सकता। आज हम एक ऐसे शास्त्र के बारे में जानेंगे जो की भविष्य बता सकता है और भविष्यवाणी करने के लिए यह सबसे प्राचीन तरीको में से एक है.

आज हम आपको Tarot Card Reading क्या होता है? और कोई व्यक्ति इसके माध्यम से अपने बारे में भविष्यवाणी कैसे कर सकता है? के बारे में विस्तार से बताने जा रहे है। ऐसे में अगर आप टैरो कार्ड भविष्यवाणी पर विश्वास रखते है तो यह पोस्ट आप के लिए है.

टैरो कार्ड ज्योतिष फलादेश की एक अद्भुत और प्राचीन विधा है। सेल्टिक नामक देश के लोगों द्वारा सबसे पहले इस विधा के माध्यम से भविष्य जानने का प्रयास किया गया। इसके माध्यम से भविष्य में होने वाली घटनाओं को देखने, उनका आंकलन करने और उनसे जुड़ी समस्याओं का समाधान करने का प्रयास किया जाता है।

Tarot क्या होता है?

टैरो एक कार्ड (पत्ते) का समूह है जिसमे बहुत सारे पत्ते होते है. जिसमे बहुत सारे पत्ते होते है. इन कार्ड में विभिन्न प्रकार की रूपरेखा और चित्रों से अंकित कार्ड का प्रयोग किया जाता है, जो स्वयं में एक अलग अर्थ लिए होते हैं। इन सभी कार्ड के दोनों ओर कुछ चित्र बने होते हैं। जिसमे प्यार मोहब्बत, पारिवारिक जवाब, जीवन-मरण, रोज की जिंदगी के बारे में जानकारी हासिल किया जाता है. टैरो कार्ड को आप वैदिक ज्योतिष शास्त्र की तरह मान सकते है।

Tarot Card Reading

Tarot Card Reading में तीन कार्ड का चयन करना होता है। इसी के आधार पर आपके भविस्य के बारे में भविष्यवाणी की जाती है भविष्य में छिपी गहराइयों और रहस्यों के बारे में जानकारी हासिल कर लिया जाता है. लेकिन बहुत सारे लोग Tarot Card के तरीके पर विश्वास करते है और बहुत से लोग नहीं करते है ऐसे में यह आपके ऊपर है की आप Tarot Card reading करना चाहते है या नहीं।

टैरोट कार्ड रीडिंग का इत्तिहास

टैरोट कार्ड रीडिंग इस समय में पुरे विश्व में फैला हुआ है लेकिन इसका उपयोग सबसे पहले चौदहवीं शताब्दी में किया गया था। इसे इटली में सबसे पहले प्रयोग किया गया था। टैरोट कार्ड रीडिंग से जुड़ी यह बात काफी ज्यादा रोचक है कि इसे सबसे पहले मनोरंजन के साधन के रूप में प्रयोग किया गया था।

मनोरंजन के तौर पर शुरू की गई टैरोट कार्ड रीडिंग आगे चलकर काफी ज्यादा महत्वपूर्ण ज्योतिष विद्या के रूप मे स्थापित हो गई। टैरोट कार्ड रीडिंग अपने शुरुआती वर्षों में बहुत अधिक प्रसिद्ध नहीं थी लेकिन 18वीं शताब्दी के आते आते यह इंग्लैड व फ्रांस तक पहुंच गई और अत्यधिक प्रसिद्ध भी हो गई।

टैरोट कार्ड रीडिंग कैसे कराएं

टैरो रीडिंग किसी व्यक्ति के जीवन की गहरी जानकारी हासिल करने का एक प्रभावी माध्यम है। Tarot Card Reading एक प्रकार का ज्योतिष है। जो की बहुत Popular है। यदि आप टैरोट कार्ड रीडिंग कराने जा रहे हैं तो आपको कुछ सावधानिओ का ध्यान रखना चाहिए :-

  • सबसे पहले आपको ये पता होना चाहिए की आप टैरोट कार्ड रीडिंग में किन किन सवालों के जवाब को जानना चाहते है। जब आप टैरोट कार्ड रीडिंग कराने जाएं तो उस सवाल को अच्छी तरह से ध्यान में रखें।
  • सवाल को दोहराने के बाद आप एक एक करके तीन कार्ड चुने।
  • पहला कार्ड हमेशा यह दर्शाएगा कि सवाल पूछते समय आपकी मानसिक स्थिति क्या थी।
  • दूसरा कार्ड हमेशा यह दर्शाएगा कि आप अपनी समस्याओं से उबरने या अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए क्या कर सकते हैं।
  • अंतिम कार्ड आपको आपकी टैरोट कार्ड रीडिंग का पूर्णतः हल बताएगा।

टैरो रीडिंग में क्या नहीं पूछना चाहिए?

  • क्या मैं लॉटरी जीतूंगा?
  • मेरी मृत्यु कब होगी? 
  • मेरे जीवनसाथी का नाम क्या है? 
  • क्या मैं गर्भवती हूं?
  • क्या मेरी पत्नी को कैंसर से छुटकारा मिल जाएगा?
  • कोई प्रत्यक्ष चिकित्सा संबंधी सवाल।
  • क्या मुझे नौकरी करनी चाहिए? 
  • क्या मैं कोर्ट केस जीतूंगा? 
  • किस तारीख को मेरी शादी होगी?
  • क्या मेरे घर में भूतों का वास है?
  • काला जादू
  • अलौकिक शक्तियों के बारे में सवाल
  • मृत लोगों के बारे में सवाल

FAQ – Tarot Card Reading in Hindi

टैरो कार्ड रीडिंग का क्या है?

टैरो कार्ड रीडिंग एक माध्यम है जिसमें टैरो कार्ड की सहायता से कोई भी व्यक्ति अपने भूत भविष्य एवं वर्तमान के विषय में जान सकता है।

क्या आप अपने टैरो कार्ड स्वयं पढ़ सकते हैं?

टैरो कार्ड पढ़ना बहुत आसान लगता है मगर वास्तव में यह बहुत कठिन है। यदि आप अपना कार्ड स्वयं पढ़तें है तो शायद आप सही से उसका अनुमान न लगा पाएं और साथ ही उसके वास्तव अर्थ को समझ ना सके।

Also Read:-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here