Tarot Card Reading in Hindi – टैरो कार्ड रीडिंग

Free Tarot Card Reading in Hindi – भविष्यवाणी की बात करें तो टैरो कार्ड (Tarot Card) का नाम न लिया जाए ऐसा तो हो नहीं सकता। आज हम एक ऐसे शास्त्र के बारे में जानेंगे जो की भविष्य बता सकता है और भविष्यवाणी करने के लिए यह सबसे प्राचीन तरीको में से एक है.

आज हम आपको Tarot Card Reading क्या होता है? और कोई व्यक्ति इसके माध्यम से अपने बारे में भविष्यवाणी कैसे कर सकता है? के बारे में विस्तार से बताने जा रहे है। ऐसे में अगर आप टैरो कार्ड भविष्यवाणी पर विश्वास रखते है तो यह पोस्ट आप के लिए है.

टैरो कार्ड ज्योतिष फलादेश की एक अद्भुत और प्राचीन विधा है। सेल्टिक नामक देश के लोगों द्वारा सबसे पहले इस विधा के माध्यम से भविष्य जानने का प्रयास किया गया। इसके माध्यम से भविष्य में होने वाली घटनाओं को देखने, उनका आंकलन करने और उनसे जुड़ी समस्याओं का समाधान करने का प्रयास किया जाता है।

Tarot क्या होता है?

टैरो एक कार्ड (पत्ते) का समूह है जिसमे बहुत सारे पत्ते होते है. इन कार्ड में विभिन्न प्रकार की रूपरेखा और चित्रों से अंकित कार्ड का प्रयोग किया जाता है, जो स्वयं में एक अलग अर्थ लिए होते हैं। इन सभी कार्ड के दोनों ओर कुछ चित्र बने होते हैं। जिसमे प्यार मोहब्बत, पारिवारिक जवाब, जीवन-मरण, रोज की जिंदगी के बारे में जानकारी हासिल किया जाता है. टैरो कार्ड को आप वैदिक ज्योतिष शास्त्र की तरह मान सकते है। जिस से आने वाले फ्यूचर के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है। हालाँकि ये कितना सही है ये कह नहीं सकते।

Tarot Card Reading

Tarot Card Reading में तीन कार्ड का चयन करना होता है। इसी के आधार पर आपके भविस्य के बारे में भविष्यवाणी की जाती है भविष्य में छिपी गहराइयों और रहस्यों के बारे में जानकारी हासिल कर लिया जाता है. बहुत सारे लोग Tarot Card के तरीके पर विश्वास करते है और बहुत से लोग नहीं करते है ऐसे में यह आपके ऊपर है की आप Tarot Card reading करना चाहते है या नहीं।

टैरोट कार्ड रीडिंग का इत्तिहास

टैरोट कार्ड रीडिंग इस समय में पुरे विश्व में फैला हुआ है लेकिन इसका उपयोग सबसे पहले चौदहवीं शताब्दी में किया गया था। आपकी जानकारी के लिए बता दे की इटली में सबसे पहले प्रयोग किया गया था। टैरोट कार्ड रीडिंग से जुड़ी यह बात काफी ज्यादा रोचक है कि इसे सबसे पहले मनोरंजन के साधन के रूप में प्रयोग किया गया था। आगे चलकर काफी ज्यादा महत्वपूर्ण ज्योतिष विद्या के रूप मे स्थापित हो गई।

टैरोट कार्ड रीडिंग अपने शुरुआती वर्षों में बहुत अधिक प्रसिद्ध नहीं थी लेकिन 18वीं शताब्दी के आते आते यह इंग्लैड व फ्रांस तक पहुंच गई और अत्यधिक प्रसिद्ध भी हो गई। इसके बाद पूरी दुनिया में इसका इस्तेमाल किया जाने लगा। आज India में भी बहुत सारे Tarot Experts है।

टैरोट कार्ड रीडिंग कैसे कराएं – Tarot Card Reading Hindi

टैरो रीडिंग (Tarot Card Reading) किसी व्यक्ति के जीवन की गहरी जानकारी हासिल करने का एक प्रभावी माध्यम है। Tarot Card Reading एक प्रकार का ज्योतिष है। जो की बहुत Popular है। यदि आप टैरोट कार्ड रीडिंग कराने जा रहे हैं तो आपको कुछ सावधानिओ का ध्यान रखना चाहिए.

  • सबसे पहले आपको ये पता होना चाहिए की आप टैरोट कार्ड रीडिंग में किन किन सवालों के जवाब को जानना चाहते है। जब आप टैरोट कार्ड रीडिंग कराने जाएं तो उस सवाल को अच्छी तरह से ध्यान में रखें।
  • सवाल को दोहराने के बाद आप एक एक करके तीन कार्ड चुने।
  • पहला कार्ड हमेशा यह दर्शाएगा कि सवाल पूछते समय आपकी मानसिक स्थिति क्या थी।
  • दूसरा कार्ड हमेशा यह दर्शाएगा कि आप अपनी समस्याओं से उबरने या अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए क्या कर सकते हैं।
  • अंतिम कार्ड आपको आपकी टैरोट कार्ड रीडिंग का पूर्णतः हल बताएगा।

टैरो रीडिंग में क्या नहीं पूछना चाहिए?

Tarrot card reading में किसी भी तरह के सवाल को पूछा जा सकता है। लेकिन कुछ ख़ास तरह के प्रश्न है जिसको आप पूछ सकते है।

  • क्या मैं लॉटरी जीतूंगा?
  • मेरी मृत्यु कब होगी? 
  • मेरे जीवनसाथी का नाम क्या है? 
  • क्या मैं गर्भवती हूं?
  • अलौकिक शक्तियों के बारे में सवाल
  • क्या मेरी पत्नी को कैंसर से छुटकारा मिल जाएगा?
  • क्या मुझे नौकरी करनी चाहिए? 
  • क्या मैं कोर्ट केस जीतूंगा? 
  • कोई प्रत्यक्ष चिकित्सा संबंधी सवाल।
  • किस तारीख को मेरी शादी होगी?
  • क्या मेरे घर में भूतों का वास है?
  • मृत लोगों के बारे में सवाल

FAQ – Tarot Card Reading in Hindi

टैरो कार्ड रीडिंग का क्या है?

टैरो कार्ड रीडिंग एक माध्यम है जिसमें टैरो कार्ड की सहायता से कोई भी व्यक्ति अपने भूत भविष्य एवं वर्तमान के विषय में जान सकता है।

क्या आप अपने टैरो कार्ड स्वयं पढ़ सकते हैं?

टैरो कार्ड पढ़ना बहुत आसान लगता है मगर वास्तव में यह बहुत कठिन है। यदि आप अपना कार्ड स्वयं पढ़तें है तो शायद आप सही से उसका अनुमान न लगा पाएं और साथ ही उसके वास्तव अर्थ को समझ ना सके।

टैरो में सबसे शक्तिशाली कार्ड क्या है?

अगर पूर्ण रूप से अनुमान लगाया जाएं तो कोई भी एक टैरो कार्ड शक्तिशाली नहीं होता है। सभी कार्ड के अपने – अपने महत्व एवं अर्थ होते है। हालांकि फूल कार्ड को एक शक्ति के रूप में देखा जाता है क्यूंकि यह टैरो कार्ड पर्यावरण का प्रतिनिधित्व करता है।

आज के इस लेख में आपको Tarot card reading के बारे में और ये किस तरह से काम करता है इसके बारे में बताया। इस से आप पाने बहुत से सवालो के जवाब प्राप्त कर सकते है।

आशा करते है की ये लेख आपको पसंद आया होगा। अगर आप tarot card से जुड़ा कोई सवाल हो तो comment कर के पूछ सकते है। इस पोस्ट को अपने दोस्तों और फॅमिली के साथ social media पर जरूर शेयर करे।

Also Read:-

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा ?

Click on a star to rate it!

Average rating 3 / 5. Vote count: 3

No votes so far! Be the first to rate this post.

2 thoughts on “Tarot Card Reading in Hindi – टैरो कार्ड रीडिंग”

  1. आपने बहुत ही अच्छी जानकारी दी है, बहुत अच्छे तरीके से हर बात को समझाया है।

    आपकी हरेक बात आसानी से समझ में आ गई है।

    मेरा भी एक blog है, http://www.finoin.com जिसमे Share market and Mutual funds Investment की जानकारी प्रदान किया जाता है।

    Please आप मेरे blog के लिए एक Backlink प्रदान करें।

    आपका धन्यवाद…

    Reply
  2. Leela Hotel Jaipur – जिंदगी मे इंसान हमेशा अपनी ख्वाइसो के लिए जीता है। वो अपनी ख्वाइसो को पूरा करने के लिए वो दूर दूर तक न जाने कितने मीलो का सफर तय करता है। अपनी बिजनेस को एक नई दिशा देने के लिए दिन रात कम करता है। इसके साथ वो अपने परिवार और समाज मे अपनी प्रतिष्ठा का भी ख्याल रखता है। इसी प्रतिष्ठा को और बढ़ाने के लिए वो बड़े बड़े होटल मे कई तरह से पार्टी करवाता है। और पार्टी मे संगे सम्बन्धियो को बुलवाया जाता है और दिल खोलकर पैसा पानी की तरह बहाया जाता है। दिल्ली का लीला होटल Leela Hotel || Leela Palace

    Reply

Leave a Comment

close