Bond Kya Hai? – और यह कितने प्रकार के होते है

0
418
Bond Kya Hai in Hindi
Bond Kya Hai in Hindi

आज की इस पोस्ट में हम बात करने वाले है बॉन्ड क्या है? (Bond Kya Hai – What Is Bond), और यह कितने प्रकार के होते है। यदि आप Bonds Investment करना चाहते है तो आपको इसकी समझ होना बहुत जरुरु है।

अगर आप बांड के बारे में संपूर्ण जानकारी चाहते है तो हमारी इस पोस्ट के माध्यम से जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Bond Kya Hai in Hindi? ( What Is Bond In Hindi )

Bond एक Fixed Income Security Document होता है जिस प्रकार से आप शेयर बाजार में अपने पैसे निवेश करके शेयर खरीदते है ठीक उसी प्रकार आप किसी कंपनी या सरकार को पैसे उधार देकर बॉन्ड खरीदते है आसान शब्दो में कहे तो –

किसी Privet या Government को Capital यानि पूँजी जुटाने की जरुरत होती है तो वह Invertors से पैसे लेती है और उसके बदले Bond जारी करती है। इस bond के माध्यम से सरकार एक निश्चित समय के loan पर पैसे लेती है इसमें आपके द्वारा ख़रीदे गए बॉन्ड पर कितना प्रतिशत ब्याज मिलेगा यह पहले से ही निश्चित होता है और सरकार कितने समय में यह पैसा लोटा देगी ये भी लिखा होता है इसमें एक तय फोर्मुले के आधार पर ब्याज दर में बदलाव भी हो सकता है

bond kya hai in hindi
Bond Kya Hai In Hindi

बांड (Bond Kya Hai) के द्वारा केंद्र सरकार, राज्य सरकार, म्युनिसिपल कॉरपोरेशन और कंपनियां अपने प्रोजेक्ट के लिए पैसा एकत्रित करती है। और उसके बदले एक प्रमाण पत्र देती है इसको ही Bond कहा जाता है।

बॉन्ड का टाईम पीरियड एक साल से लेकर पांच साल या फिर दस साल या फिर इससे भी हो ज्यादा सकता है. इस समयावधि को MUTURITY PERIOD भी कहा जाता हैं. और जब बॉन्ड का पीरियड खत्म हो जाता है तो तय नियमों और शर्तों के अनुसार आपको आपका पैसा वापस मिल जाता है.

बॉन्ड के प्रकार ( Types of Bond In Hindi )

भारत में वैसे तो बॉन्ड के बहुत से प्रकार होते है जिनकी अवधि और ब्याज की दर भिन्न – भिन्न होती है

1. सरकारी बॉन्ड ( Government Bond )

जब सरकार को सरकारी कामों के लिए वित्तीय सहायता की जरूरत होती है तो वह बॉन्ड जारी करती है और इसके जरिये फण्ड जुटाती है आपको बता दे कि, सरकारी बांड को ट्रेज़री बांड भी कहा जाता है। सरकारी बॉन्ड से इकट्ठा किया गया पैसा सरकारी योजनाओं में लगाया जाता है।

सरकारी बॉन्ड में आपको अन्य कंपनियों के bond के मुकाबले ब्याज का Interest बहुत काम मिलता है पर इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि इसमें आपके पैसे के डूबने की कोई सम्भावना नहीं होती है। इस पैसे की जिम्मेदारी पूरी तरह से सरकार की होती है. इसलिए सरकारी बॉन्ड काफी सुरक्षित माने जाते हैं.

2. कॉर्पोरेट बॉन्ड ( Corporate Bond )

कोर्पोरेट बॉन्ड वह होते है जो प्राइवेट सेक्टर के जरिए जारी किये जाते हैं. कॉर्पोरेट बांड अधिक रिटर्न देते है, परन्तु इसमें जोखिम भी बहुत अधिक होता है। इसलिए आप कॉर्पोरेट बॉन्ड में निवेश करने से पहले आपको उस कंपनी के बारे में पूरी जानकारी होना चाहिए ,जिस से आपका पैसा सुरक्षित रहे !

3. म्युनिसिपल बॉन्ड ( Municipal Bond )

जब लोकल किसी लोकल सरकार या नगर निगम को अपने प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए, सड़क या स्कूल बनाने या सरकारी कामों के लिए पैसे की जरूरत होती है तो लोकल सरकार भी बॉन्ड जारी कर सकती है. इस तरह के बॉन्ड को ( Municipal Bond ) कहा जाता हैं. यह भी काफी सुरक्षित होते हैं और इन पर भी ब्याज दर अच्छी मिल जाती है.

4. हाई – यील्ड बॉन्ड ( High – Yield Bond )

यह बॉन्ड उन निवेशको (Investers) के लिए अच्छा विकल्प है इसमें सबसे ज्यादा जोखिम होता है और इसके साथ High Returns भी मिलते है। इसी कारण इसे High-yield Bond के नाम जाना जाता है।

Bond Market In India – India में Bond कितने प्रकार के है?

  • Corporate Bond Market
  • Municipal Bond Market
  • Government and Agency Bond Market
  • Funding Bond Market
  • Mortgage Backed and Collateral Debt Obligation Bond Market

बॉन्ड कैसे ख़रीदे (Bond Kaise Kharide) How To Buy A Bond In India

बॉन्ड को खरीदने के लिए आपको भारत का नागरिक होना जरुरी है। आप चाहे तो अपने नाम से या फिर जॉइंट में भी बॉन्ड को खरीद सकते है। यदि आप माइनर है तो अपने माता – पिता के नाम से भी बॉन्ड खरीद सकते है , बस आपको भारतीय नागरिक होना आवश्यक है !

बॉन्ड को आप ऑनलाइन (Online) के माध्यम से भी खरीद सकते है या फिर अपने किसी नजदीकी बैंक शाखा में में जाकर भी बॉन्ड खरीद सकते है। आप broker की मदद से आसानी खरीद सकते है.

FAQ – Bond Kya Hai in Hindi

बॉन्ड क्या होता है?

जब सरकार को अपने कामो को पूरा करने के लिए वित्तीय सहायता की जरूरत होती है तो सरकार एक बॉन्ड जारी करती है. इस बॉन्ड को ऋण पत्र कहते हैं और यह Loan की तरह होता है.

बांड कितने प्रकार के होते हैं?

सरकारी बॉन्ड (Government Bond)
कॉर्पोरेट बॉन्ड (Corporate Bond)
म्युनिसिपल बॉन्ड (Municipal Bond)
हाई – यील्ड बॉन्ड (High – Yield Bond)

Oil Bond क्या होता है?

ऑयल बॉण्ड एक तरह की सिक्योरिटी होती हैं, जिसे सरकारें नकद सब्सिडी के बदले तेल कंपनियों को दिया करती हैं.

Conclusion:

दोस्तों आशा करता हूँ की आपको हमारा आज का आर्टिकल Bond Kya Hai? – और यह कितने प्रकार के होते है आपको अच्छा लगा होगा. यदि आपके पास इससे सम्बन्धित कोई भी सवाल या सुझाव है तो आप हमसे कमेंट में कह सकते है

अगर आपको बांड से जुडी जानकारी पसंद आयी है तो इसे Like करना न भूले तथा आपने दोस्तों से भी इस जानकारी को शेयर करें, धन्यवाद!

यह भी पढ़े:-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here