Bharat Ki Sabse Lambi Nadi – भारत की सबसे लंबी नदी कौन सी है

Neha Arya
12 Min Read
Bharat ki sabse lambi nadi kaun si hai
Bharat ki sabse lambi nadi kaun si hai

Bharat Ki Sabse Lambi Nadi – भारत एक बहुत ही बड़ा विशाल देश है, जो की अपनी संस्कृति और विविधता के लिए फेमस है। भारत में हमेशा से नदियों का देश भी बोला जाता है, यहाँ पर बहुत सी पवित्र नदिया है। नदियां हमारे देश में लोगों के लिए एक आस्था का प्रतीक हैं। धार्मिक ग्रंथो में तो नदिओं की पूजा की जाती है, आज भी शाम के समय में बहुत सी नदिओं की आरती की जाती है। इनमे से कुछ तो बहुत बड़ी है और सेकड़ो किलोमीटर में बहती है।

भारत की नदियों को उनके उदगम स्थल और निर्वहन स्थल के आधार पर मुख्यत दो हिस्सों में बांटा गया है। जो नदियां हिमालय की गोद से निकलती हैं, तो उन्हें हिमालयी नदियां कहा गया। ये नदिया काफी लम्बी होती हैं, और बहुत से राज्यों से होकर निकलती है। जो नदियां प्रायद्वीपीय मैदानों से निकलती हैं, उन्हें प्रायद्वीपीय नदियां कहा गया। आज के इस लेख में हम आपको भारत की सबसे लंबी नदी कौन सी है और प्रमुख नदिओं के बारे में जानकारी प्रादादन कर रहे है।

भारत की सबसे लंबी नदी (Bharat Ki Sabse Lambi Nadi)

भारत देश में बहुत सी नदियाँ बहती हैं इसलिए भारत को नदियों का देश भी कहा जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दे की भारत की सबसे लम्बी नदी गंगा है, जो 2525 किलोमीटर का सफर तय कर बंगाल की खाड़ी में जाकर मिलती है। जहा से भी ये निकलती है, वह पर इसकी पूजा भी की जाती है। इसको भारत की सबसे पवित्र नदी भी माना जाता हैं।

भारत की नदियाँ देश को उपजाऊ, औद्योगिक रूप से उन्नत और कृषि के लिए उपयुक्त रखती हैं। जो भारत की अर्थव्यवस्था के विकास में मदद करती है। नदिओं में बहने वाले पानी के जरिये खेतो की सिचाई की जाती है और बहुत से उद्योग में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ देश की जनता को पीने का पानी भी उपलब्ध कराया जाता है।

भारत की 10 सबसे बड़ी नदियों की सूची

हम आपको इस आर्टिकल में भारत की प्रमुख 10 नदियों (Top 10 Largest Rivers of India) के बारे में विस्तृत पूर्वक जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं।

S.Noनदियों के नामनदियों की लम्बाईनदियों का उद्गम स्थाननदियों का मुहाना
1गंगा2525 किमी.गोमुख हिमानी, गंगोत्रीबंगाल की खाड़ी
2गोदावरी1465 किमी.नासिक, महाराष्ट्रबंगाल की खाड़ी
3यमुना1375 किमी.बंदरपूंछ, यमुनोत्रीप्रयागराज, गंगा नदी
4नर्मदा1312 किमी.विंध्याचल पर्वत, अमरकंटकखंभात की खाड़ी
5कृष्णा1288 किमी.महाबलेश्वर, पश्चिमी घाटबंगाल की खाड़ी
6सिंधु1114 किमी.मानसरोवर झील, तिब्बतअरब सागर
7ब्रह्मपुत्र916 किमी.मानसरोवर झील, तिब्बतबंगाल की खाड़ी
8महानदी815 किमी.रायपुर, छत्तीसगढ़बंगाल की खाड़ी
9कावेरी800 किमी.कुर्ग जिला, कर्नाटकबंगाल की खाड़ी
10ताप्ती724 किमी.बैतूल जिला, मध्य प्रदेशखंभात की खाड़ी

भारत की सबसे लंबी नदी

भारत की सबसे लंबी नदी गंगा है (Bharat Ki Sabse Lambi Nadi)। गंगा के बाद दूसरी सबसे लंबी नदी गोदावरी है, और तीसरी सबसे लंबी नदी कृष्णा नदी है। आइए भारत की 7 सबसे लंबी नदियों के बारे में जानें।

1. गंगा नदी (The River Ganges)

गंगा को भारत की सबसे पवित्र नहीं कहा जाता है और इसकी पूजा अर्चना की जाती है। इसके साथ यह भारत की सबसे लम्बी नदी है। ये सांस्कृतिक, धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व रखती है, जिस वजह से हर साल लाखो पर्यटक इसके दर्शन करने के लिए आते है। गंगा एक सीमा पार नदी है, जो भारत और बांग्लादेश से होकर बहती है।

यह भारतीय राज्य उत्तराखंड के पश्चिमी हिमालय में गंगोत्री ग्लेशियर से निकलती है, और बांग्लादेश में बंगाल की खाड़ी में जाने से पहले लगभग 2,525 किलोमीटर का सफर तय करती है। भारत में ये वाराणसी (काशी), इलाहाबाद (प्रयागराज) और हरिद्वार सहित कई शहर से निकलती है। इसके आस पास बहुत सारे मंदिर और घाट है, जहा पर जाके नदी में स्नान कर सकते है।

Also Read – दुनिया की सबसे महंगी करेंसी

2. गोदावरी नदी (Godavari River)

गोदावरी नदी भारत की प्रमुख नदियों में से एक है, जिसे “दक्षिण गंगा” या “दक्षिण की गंगा” के नाम से भी जाना जाता है। गंगा के बाद भारत की दूसरी सबसे लंबी नदी है। गोदावरी नदी भारत के मध्य भाग महाराष्ट्र राज्य से निकलती है और बंगाल की कड़ी में गिरती है। ये लगभग लगभग 1,465 किलोमीटर की दुरी तय करती है। यह महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़ और ओडिशा समेत कई राज्यों से होकर गुजरती है।

गोदावरी नदी उन क्षेत्रों के लिए महान सांस्कृतिक, आर्थिक और पारिस्थितिक महत्व रखती है। जहा ये बहती है,और यह नदी हिन्दुओं के लिए एक पवित्र है। गोदावरी नदी के किनारे बसे शहरों में से एक, नासिक, कुंभ मेले की मेजबानी के लिए प्रसिद्ध है। ये नदी भारत के लाखों लोगों के लिए जीवन रेखा है, और यह क्षेत्र के सामाजिक-आर्थिक और सांस्कृतिक ताने-बाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

3. यमुना नदी (Yamuna River)

यमुना नदी उत्तर भारत की प्रमुख नदियों में से एक है। यह गंगा नदी की सबसे बड़ी सहायक नदी है, जो की उत्तराखंड राज्य में यमुनोत्री ग्लेशियर से निकलती है बाद में गंगा नदी में मिल जाती है। जहा पर यमुना, गंगा में मिलती है उसे संगम कहा जाता है। यमुना नदी सांस्कृतिक और ऐतिहासिक रूप से महत्वपूर्ण है, हर साल लाखो लोग इलाहाबाद आते है, इसमें स्नान करने के लिए।

भारतीय उपमहाद्वीप की संस्कृति और इतिहास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। ये नदी लगभग 1,376 किलोमीटर लंबी है, जो इसे भारत की सबसे लंबी नदियों (Bharat Ki Sabse Lambi Nadi) में से एक बनाती है।

Also Read – Whatsapp Web क्या है और इसका इस्तेमाल कैसे करें

4. नर्मदा नदी (Narmada River)

नर्मदा नदी भारत की चौथी सबसे बड़ी नदी है, जो मध्य प्रदेश से निकलती है और पश्चिम की ओर अरब सागर में बहती है। नर्मदा नदी का उद्गम मध्य प्रदेश के अमरकंटक से होता है। इसकी लम्बाई लगभग 1,312 किलोमीटर है, जिस वजह से इसे भारत के सबसे लम्बी नदी की लिस्ट में शामिल किया गया।

नर्मदा नदी को बहुत पवित्र माना गया है। इसे “गुजरात की जीवन रेखा” कहा जाता है। नर्मदा नदी का न केवल सांस्कृतिक और धार्मिक महत्व है, बल्कि जिन क्षेत्रों से यह बहती है वह पर कृषि और जल आपूर्ति के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। यह अपने पारिस्थितिकी तंत्र के सतत उपयोग और सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए संरक्षण और विकास प्रयासों का विषय बना हुआ है।

5. कृष्णा नदी (Krishna River)

भारत की सबसे लंबी नदी में अगला नाम कृष्णा नदी का है, जो देश के दक्षिणी भाग से होकर बहती है। इसकी लम्बाई लगभग 1,400 किलोमीटर (870 मील) है। इस नदी का उल्लेख महाभारत सहित प्राचीन भारतीय ग्रंथों और धर्मग्रंथों में आसानी से मिल जायेगा। जहां इसका संबंध पौराणिक शहर द्वारका से है, जिसके बारे में कहा जाता है कि यह भगवान कृष्ण का राज्य था। भगवन कृष्णा की वजह से इस नदी का नाम कृष्णा नदी पड़ा, ये अपनी सुंदरता के लिए फेमस है।

Also Read – Jio Sim Ka Number Kaise Nikale

6. सिंधु नदी (Indus River)

सिंधु नदी एशिया की सबसे प्रमुख नदियों में से एक है और भारत के साथ साथ दुनिया की सबसे लंबी नदियों में से एक है। ये नदी मुख्य रूप से पाकिस्तान और भारत के एक छोटे हिस्से से होकर बहती है। जिसके बाद यह तिब्बत, चीन से होते हुए पाकिस्तान में प्रवेश करती है और अंततः पाकिस्तान के दक्षिणी भाग में अरब सागर में मिल जाती है।

सिंधु नदी लगभग 3,180 किलोमीटर (1,976 मील) लंबी है, जो इसे एशिया की सबसे लंबी नदियों में से एक बनाती है। सिंधु नदी की बहुत साड़ी सहायक नदियाँ भी हैं, जिनमें झेलम, चिनाब, रावी, ब्यास और सतलुज नदियाँ शामिल हैं। परन्तु भारत में केवल इस नदी का 1114 किलोमीटर लंबी है , इस नदी को भारत की राष्ट्रिय और सबसे बड़ी नदी भी माना जाता है।

7. ब्रह्मपुत्र नदी (Brahmaputra River)

ब्रह्मपुत्र नदी को बहुत से नामो से जाना जाता है, तिब्बत में यारलुंग त्सांगपो, बांग्लादेश में जमुना और चीन में त्सांगपो-ब्रह्मपुत्र के नाम से जाना जाता है। ये एशिया के बहुत से देशो से निकलती है, इसलिए इसके नाम भी अलग अलग है। यह दुनिया की सबसे लंबी और सबसे महत्वपूर्ण नदियों में से एक है, जिसकी लंबाई लगभग 3,848 किलोमीटर है।

ब्रह्मपुत्र नदी का उद्गम तिब्बत में, हिमालय में आंगसी ग्लेशियर के पास से होता है। यह तिब्बत से होकर पूर्व की ओर बहती है, जहाँ पर इसको यारलुंग त्संगपो के नाम से जाना जाता है। ब्रह्मपुत्र के आसपास के क्षेत्र में मानसून के मौसम के दौरान वार्षिक बाढ़ का खतरा रहता है।

FAQs

दुनिया की सबसे लंबी नदी कौन सी है?

दुनिया की सबसे लंबी नदी नॉर्थ-ईस्ट अफ्रीका में बहने वाली नील नदी है, इसकी लम्बाई 6650 किलोमीटर यानी 4132 मील है।

सबसे गहरी नदी कौन सी है?

कांगो नदी दुनिया की सबसे गहरी नदी है, जो की 200 मीटर से ज्यादा गहरी है। यह लुअलाबा से निकलती है और अटलांटिक महासागर में गिरती है।

निष्कर्ष

आज के लेख में हमने आपको भारत की सबसे लंबी नदी और ये कहा से निकलती है, इसके बारे में विस्तार से बताया। भारत में बहुत सी नदिया बहती है, इसलिए भारत को नदियों की भूमि कहा जाता है। ये सभी नदिया अपनी सांस्कृतिक विविधता, धार्मिक महत्त्व के लिए जानी जाती है।

आशा करते है की इस लेख से आपको बहुत कुछ सिखने को मिला होगा, अगर आपको ये लेख पसंद आया तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करे।

SEO And Digital Marketing Tips पाने के लिए या फिर Blogging में सक्सेसफुल होने के लिए आप हमारे ब्लॉग Minidea को सोशल मीडिया Facebook पर जरूर फॉलो करें धन्यवाद।

Share This Article
Leave a comment